Home
Sign In
Poster
हिंदी
12 घंटे के सत्र
पठन सामग्री
लाइव चैट सपोर्ट

सहयोग राशि:

₹100

₹6000

अष्टावक्र गीता

मनीषियों की मानें तो श्रीमद्भगवद्गीता से भी अधिक शुद्ध ज्ञान की यदि कहीं वर्षा हुई है तो वो है श्री अष्टावक्र - श्री जनक संवाद। कैसे एक प्राज्ञ किशोर और एक जीवनमुक्त पराक्रमी राजा के बीच मार्मिक-संवाद घटित होता है वो अद्भुत है।

जानिए ‘तत्त्वज्ञ पुरुष’ के लक्षणों को आचार्य प्रशांत के साथ ‘श्री अष्टावक्र गीता’ के अट्ठारहवें अध्याय पर आधारित इस आसान वीडियो कोर्स के माध्यम से।


कोर्स से लाभ

  • अष्टावक्र गीता के गहरे अर्थों को समझें।
  • राजा जनक और ऋषि अष्टावक्र से परिचय।
  • जीवनमुक्त (जीवन रहते मुक्त होना) होने के रहस्य को समझें।
  • अष्टावक्र गीता की दैनिक जीवन में उपयोगिता पर चर्चा।

लाइव चैट सपोर्ट

कोर्स के दौरान वीडियो सत्रों पर आधारित प्रश्नों को लाइव-चैट के माध्यम से पूछने की सुविधा उपलब्ध।


कोर्स की संरचना

इस कोर्स में आचार्य प्रशांत के निम्न सत्र उपलब्ध हैं:

सत्र 1 (1 घंटे 42 मिनट)

सत्र 2 (1 घंटा 42 मिनट)

सत्र 3 (1 घंटा 44 मिनट)

सत्र 4 (1 घंटे 57 मिनट)

सत्र 5 (1 घंटे 48 मिनट)

सत्र 6 (1 घंटे 42 मिनट)

सत्र 7 (1 घंटे 42 मिनट)

कुल सत्र अवधि: 12 घंटे 17 मिनट


बोध-सामग्री

अष्टावक्र गीता का अध्याय-18 हिंदी अनुवाद सहित।


कोर्स की वैधता:

  • आजीवन वैधता।
  • वेबसाइट पर अपने निजी अकाउंट से कभी-भी सत्र देखें।
  • सत्रों का अनेकों बार श्रवण करने की सुविधा।

रजिस्टर करने हेतु

  • इस पेज पर दिए ‘रजिस्टर करें’ बटन पर क्लिक करें।
  • यदि आपने निजी अकाउंट स्थापित नहीं किया है तो उसकी प्रक्रिया पूरी करें
  • अकाउंट स्थापित होने के उपरांत अनुदान की प्रक्रिया पूरी करें।
  • ऊपर दिए गये तीन रेखाओं के चित्र वाले बटन पर क्लिक कर 'My Enrolled Courses' पर जायें।
  • अपने ऑनलाइन कोर्स का लाभ लें :)

All Courses

Upanishad and Wisdom
Jeevan Jigyasa (Life Questions)
Holistic Individual Development Program